LATEST Articles

ज़रा ध्यान दें|

क्या अल्लाह अपने बन्दे के लिये काफ़ी नही हैं…

कब्र-ज़िन्दगी मौत के बाद

मौत का मज़ा चख लेने के बाद इन्सान की पहली

गैर मुस्लिमो की गलतफ़हमिया

गैर मुस्लिम भाईयो की गलतफ़हमीया

Share   

Bookmark and Share

आज की बात

ऐ ईमानवालो! जब जुमा के दिन की नमाज़ के लिये पुकारा जाये तो अल्लाह की याद की तरफ़ चल पड़ो और खरीद व फ़रोख्त छोड़ दो, यह तुम्हारे लिये बेहतर हैं अगर तुम जानो| फ़िर जब नमाज़ पूरी हो जाये तो ज़मीन मे फ़ैल जाओ और अल्लाह का फ़ज़्ल तलाश करो, और अल्लाह को कसरत से याद करो, ताकि तुम फ़लाह पाओ| (सूरह जुमुआ 62/9, 10)

ऐ ईमानवालो अल्लाह से इतना डरो जितना उससे डरने का हक़ हैं और तुम इस्लाम के सिवा किसी और दीन पर हर्गिज़ न मरना| (क़ुरान)
ऐ ईमानवालो अल्लाह की इताअत करो और रसूल की इताअत करो और अपने आमाल को बरबाद मत करो| (कुरान)
तुममे बेहतर शख्स वो हैं जो कुरान सीखे और सिखाये|(हदीस)